Friends of UPSRTC New Suggestion

UPSRTC Welcomes All to this Friends Forum to provide viewpoints, experiences, expectancies, suggestions with photo / video uploads to help us to Serve People in a better way. This forum shall be a friendly endeavor and not merely Critic.

UPSRTC shall provide its comments wherever possible and does not purport to convey a charter for action methodology for which Grievance / Complaint section is available, but to use this fruitful association to improve from experiences. So Welcome Once Again.

मैं मो परवेज खान आज 15 जुलाई 2018 को गोंडा डिपो की बस संख्या up 43 T 7258 से कानपुर से उतरौला के लिए सफर कर रहा था जिसका मैंने टिकट लिया हुआ था मेरे पास समान के रूप में एक बोरी में रजाई और कुछ किताबें थी जिसे कानपुर से चढ़ते समय परिचालक ने देखा और पूछा भी की इसमें क्या है और मैंने बताया कि रजाई और कुछ किताबें है। मैंने 500 का नोट देकर टिकट 293 रु का टिकट लिया और परिचालक ने 207 रुपये टिकट के पीछे लिख दिया इसके बाद बस चारबाग और केसरबाग स्टेशन को पार करके आगे पहुँची तो केसरबाग से बैठी सवारियों का टिकट बनाते समय परिचालक ने मेरी बोरी के बारे में पूछा और मेरा टिकट मांगकर बकाया के 207 रुपये में 150 रुपया बोरी का किराया काटकर 57 रुपया वापसी देने के लिए टिकट पर लिख दिया। जब मैंने इस 150 रुपया की अबैध कटौती का विरोध किया और कहा अगर बोरी का किराया ले रहे है तो मुझे टिकत बना कर दीजिए। इस पर परिचालक ने बिना वजन किये मुझे 284 रुपया का टिकट काट कर दे दिया और टिकट पर मेरी बोरी का वजन भी नही लिखा जबकि मेरी बोरी में मात्र एक रजाई और कुछ किताबें ही थी जिनका अधिकतम वजन 10 से 15 किलो ही होगा। यहां पर प्रश्न यह है कि टिकट केसरबाग के बाद क्यों बनाया गया कानपुर क्यो नही बनाया गया और टिकट मशीन से न बनाकर मैन्युअल बनाया गया और टिकट पर मेरे समान का वजन भी नही लिखा गया की समान का अनुमानित वजन क्या है। रास्ते मे गाड़ी के सवारी चेक करने वाले अधिकारी महोदय द्वारा गाड़ी की सवारी चेक करते समय मैंने इस कि शिकायत उनसे की परंतु उन्होंने कोई सहयोग नही किया।परिचालक का बचाव करते रहे इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात है कि जिस ढाबे पर बस चाय नाश्ते के लिए रुकी थी वहां से बस को परिचालक महोदय ने चलाना प्रारम्भ किया और टाइप करते समय तक वे इस बस को चलाकर कर्नलगंज के आगे तक ले जा चुके थे प्रश्न यह है कि क्या परिचालक को इस प्रकार बस चलाने की आज्ञा है और क्या उनके पास हैवी लायसेंस है । पिछले कॉमेंट में रात वजह से बस नंबर 7258 का बजाय 7298 टाइप हो गया था।
Mohd parvez khan , 9565609067
UPSRTC Under Process
 
मैं मो परवेज खान आज 15 जुलाई 2018 को गोंडा डिपो की बस संख्या up 43 t 7298 से कानपुर से उतरौला के लिए सफर कर रहा था जिसका मैंने टिकट लिया हुआ था मेरे पास समान के रूप में एक बोरी में रजाई और कुछ किताबें थी जिसे कानपुर से चढ़ते समय परिचालक ने देखा और पूछा भी की इसमें क्या है और मैंने बताया कि रजाई और कुछ किताबें है। मैंने 500 का नोट देकर टिकट 293 रु का टिकट लिया और परिचालक ने 207 रुपये टिकट के पीछे लिख दिया इसके बाद बस चारबाग और केसरबाग स्टेशन को पार करके आगे पहुँची तो केसरबाग से बैठी सवारियों का टिकट बनाते समय परिचालक ने मेरी बोरी के बारे में पूछा और मेरा टिकट मांगकर बकाया के 207 रुपये में 150 रुपया बोरी का किराया काटकर 57 रुपया वापसी देने के लिए टिकट पर लिख दिया। जब मैंने इस 150 रुपया की अबैध कटौती का विरोध किया और कहा अगर बोरी का किराया ले रहे है तो मुझे टिकत बना कर दीजिए। इस पर परिचालक ने बिना वजन किये मुझे 284 रुपया का टिकट काट कर दे दिया और टिकट पर मेरी बोरी का वजन भी नही लिखा जबकि मेरी बोरी में मात्र एक रजाई और कुछ किताबें ही थी जिनका अधिकतम वजन 10 से 15 किलो ही होगा। यहां पर प्रश्न यह है कि टिकट केसरबाग के बाद क्यों बनाया गया कानपुर क्यो नही बनाया गया और टिकट मशीन से न बनाकर मैन्युअल बनाया गया और टिकट पर मेरे समान का वजन भी नही लिखा गया की समान का अनुमानित वजन क्या है। रास्ते मे गाड़ी के सवारी चेक करने वाले अधिकारी महोदय द्वारा गाड़ी की सवारी चेक करते समय मैंने इस कि शिकायत उनसे की परंतु उन्होंने कोई सहयोग नही किया।परिचालक का बचाव करते रहे इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात है कि जिस ढाबे पर बस चाय नाश्ते के लिए रुकी थी वहां से बस को परिचालक महोदय ने चलाना प्रारम्भ किया और टाइप करते समय तक वे इस बस को चलाकर कर्नलगंज के आगे तक ले जा चुके थे प्रश्न यह है कि क्या परिचालक को इस प्रकार बस चलाने की आज्ञा है और क्या उनके पास हैवी लायसेंस है ।
Mohd parvez khan , 9565609067
UPSRTC Under Process
 
मैं मो परवेज खान आज 15 जुलाई 2018 को गोंडा डिपो की बस संख्या up 43 t 7298 से कानपुर से उतरौला के लिए सफर कर रहा था जिसका मैंने टिकट लिया हुआ था मेरे पास समान के रूप में एक बोरी में रजाई और कुछ किताबें थी जिसे कानपुर से चढ़ते समय परिचालक ने देखा और पूछा भी की इसमें क्या है और मैंने बताया कि रजाई और कुछ किताबें है। मैंने 500 का नोट देकर टिकट 293 रु का टिकट लिया और परिचालक ने 207 रुपये टिकट के पीछे लिख दिया इसके बाद बस चारबाग और केसरबाग स्टेशन को पार करके आगे पहुँची तो केसरबाग से बैठी सवारियों का टिकट बनाते समय परिचालक ने मेरी बोरी के बारे में पूछा और मेरा टिकट मांगकर बकाया के 207 रुपये में 150 रुपया बोरी का किराया काटकर 57 रुपया वापसी देने के लिए टिकट पर लिख दिया। जब मैंने इस 150 रुपया की अबैध कटौती का विरोध किया और कहा अगर बोरी का किराया ले रहे है तो मुझे टिकत बना कर दीजिए। इस पर परिचालक ने बिना वजन किये मुझे 284 रुपया का टिकट काट कर दे दिया और टिकट पर मेरी बोरी का वजन भी नही लिखा जबकि मेरी बोरी में मात्र एक रजाई और कुछ किताबें ही थी जिनका अधिकतम वजन 10 से 15 किलो ही होगा। यहां पर प्रश्न यह है कि टिकट केसरबाग के बाद क्यों बनाया गया कानपुर क्यो नही बनाया गया और टिकट मशीन से न बनाकर मैन्युअल बनाया गया और टिकट पर मेरे समान का वजन भी नही लिखा गया की समान का अनुमानित वजन क्या है। रास्ते मे गाड़ी के सवारी चेक करने वाले अधिकारी महोदय द्वारा गाड़ी की सवारी चेक करते समय मैंने इस कि शिकायत उनसे की परंतु उन्होंने कोई सहयोग नही किया।परिचालक का बचाव करते रहे इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात है कि जिस ढाबे पर बस चाय नाश्ते के लिए रुकी थी वहां से बस को परिचालक महोदय ने चलाना प्रारम्भ किया और टाइप करते समय तक वे इस बस को चलाकर कर्नलगंज के आगे तक ले जा चुके थे प्रश्न यह है कि क्या परिचालक को इस प्रकार बस चलाने की आज्ञा है और क्या उनके पास हैवी लायसेंस है ।
Mohd parvez khan , 9565609067
UPSRTC Under Process
 
Travelling from lko to gkp on 11 jul 18 by 1230 bus no up33at5446. Tkt no 25440. First of all conductor allowed road side vendor to sell water inside bus then after some time announced that water is available inside bus.passenger may have it.this is unethical.he should have informed earlier.on being checked he told that he was busy in making tkts. It is suggested that they should have name tab.also list of facilities available in bus may be displayed.
surender singh chauhan , 8080427329
UPSRTC Under Process
 
Sir i have application for open ended (course) card on 16/02/2018 but not received yet.my trimax ref no -PDPA180217990.trimax team leader on gorakhpur depot told me forget about card and do new registration but I have recharged ₹1050 in that card during online registrstion
Amit Srivastav , 9453865144
UPSRTC Under Process
 
Sir humare idhar kuchh gunde type log hai jo bus me ticket nhi lete aur do char km ke liye free me baith jate hai aur jb busb check hoti hai to TI wt likh dete hai Kai baar pasnger ticket nhi leta lekin wt conductor bhugtta hai Aap gujrat punjab ki tarh paasenger penalty kyu nhi krte
Puneet
UPSRTC Under Process
 
tmha sare coustmer care wale kaha busy hai
khan , 9960
UPSRTC Under Process
 
Good morning sir Main Saturday m raat 7:30 am Anand vihar isbt pohacha.. Main aligarh aney liye bus dekh reha tha. Lakin koi bus Wala(condutor) aligarh Jane k liye taiyar hi ho reha h.. aligarh hote hoye ni jayegai.. sab bus farkhabad, kanpur route ki thi.. Aligarh hote hoye ni jayegiii.. 2 hours Tak pochta reha hum log. Hum log bht preshan hoye.. Please AP solution batayee..
Faisal khan , 7417453107
UPSRTC Under Process
 


UPSRTC Under Process
 


UPSRTC Under Process